Advertisement

💐💐पुलिस और पत्रकार💐💐


नदी व किनारे की तरह हैं!

जिनको हर मामले में लगभग साथ रहना होता है!

पत्रकार समाज के साथ साथ पुलिस का भी आईना होते हैं।

लोगों को जनता को पुलिस के बहुत सारे गुडवर्क *पत्रकारों के ही माध्यम* से पता लगते हैं।

पत्रकार साथी पुलिस को हीरो बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं।

अच्छे व बुरे इंसान हर जगह होते हैं पत्रकारों में भी !पुलिस विभाग में भी!

जो पत्रकार गलत करें तो उन पर एक्शन लें उस पर कोई एतराज़ नहीं है ! 

पर अगर पत्रकारों को उनका काम ही नहीं करने दिया जाएगा तो ये पत्रकार जगत का उत्पीड़न करने जैसा होगा!

लोकतंत्र का गला घोंटने जैसा होगा!

आला अधिकारियों को हाल में घटी कुछ घटनाओं को संज्ञान में लेकर जिम्मेदार कर्मियों पर एक्शन लेना चाहिए 

ताकि तालमेल बना रहे। 

*सामाज के लिये न पत्रकार बेलगाम हों !* 

*और पत्रकारों के लिये न पुलिस बेलगाम हों !* 

सबकी अपनी कार्यशैली है

जिसको करने की पूरी आज़ादी होनी चाहिए!


 @Salam Khaki News*

8010884848

7599250450

No comments:

Post a Comment